- - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - -

Breaking

Search This Blog

Types of Computer and its Full Name



Computer Functionality


Hello Friends, पिछली पोस्ट में हमने पढ़ा था Computer क्या है History of Computer और Computer की पीढ़ियां . इन सभी के बारे में हम पिछली Post में विस्तार से चर्चा कर चुके हैं. आज की इस Post में हम पढ़ने वाले हैं Computer की कार्य प्रणाली क्या है और Computer कैसे काम करता है.

मुख्य रूप से Computer के दो भाग होते हैं Hardware और Software. Computer के निर्माण और Computer के प्रयोग होने वाले सभी भाग Hardware कहलाते हैं तथा Computer के जो आंतरिक भाग हमारे निर्देश देने पर काम करते हैं किंतु जिन्हें हम देख नहीं सकते हैं उन्हें Software कहा जाता है. इन्हें हम काम करवाने के लिए Mouse और Keyboard का उपयोग कर इन्हें निर्देश देते हैं और तभी यह काम करता है.
क्या आप जानते हैं कि जिस Computer पर रोज काम करते हैं उसका पूरा नाम क्या है Computer का Full Name है-
C = Calculate (गणना करना)
O = Operate (काम करना) 
M = Memory (याद रखना)
P = Print (छापना)
U = Update (नवीनतम बनाना)
T = Tabulate (तालिका बनाना)
E = Edit (संपादन करना / सुधारना)
R = Response (प्रतिक्रिया करना / उत्तर देना)

Oxford Dictionary के अनुसार, Computer एक स्वचालित Electronic Machine है जो अनेक प्रकार की तर्कपूर्ण गणनाओं के लिए प्रयोग किया जाता है. Computer को हिंदी में संगणक कहा जाता है. Computer बिजली से चलने वाला एक यंत्र (Machine) है जिसकी प्रक्रिया तीन चरणों में पूरी होती है:


अर्थात जब हम Computer में कोई Data Input करते हैं तो Computer Data को Process करके, User को Output प्रदान करता है. Computer के प्रमुख भागों के नाम इस प्रकार हैं-
  • CPU (Central Processing Unit) सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट 
  • Monitor मॉनिटर
  • Keyboard कीबोर्ड 
  • Mouse माउस 

Computer तीन प्रकार के होते हैं (Types of Computer) -

  • Digital Computer (डिजिटल कंप्यूटर)
  • Analog Computer (एनालॉग कंप्यूटर)और 
  • Hybrid Computer (हाइब्रिड कंप्यूटर)

Digital Computer Kya Hai:

हम सब जिस Computer के बारे में बातें करते हैं वे अधिकतर Digital Computer ही होते हैं. Digital Computer वे है जो अंको की गणना करते हैं. इनमें सभी डाटा Digit के रूप में के रूप में अर्थात 0 और 1 के रूप में कार्य करते हैं और इन Binary Digit को सभी गणनाएं और Operation करने के लिए काम में लाते हैं. ये चार प्रकार के होते हैं-
  • Micro Computer (माइक्रो कंप्यूटर)
  • Mini Computer (मिनी कंप्यूटर)
  • Mainframe Computer (मेनफ़्रेम कंप्यूटर)
  • Super Computer (सुपर कंप्यूटर)

Micro Computer Kya Hai

Micro Computer वे होते हैं जिनमें Micro Processor मुख्य भाग होता है। ED Roberts ने Micro Processor का निर्माण किया था. और 1971 में पहला Micro Processor Computer विकसित किया था. इन Computer का Size छोटे होने के कारण इनकी कीमत कुछ कम होती है और इनका प्रयोग मुख्यतः व्यक्तिगत तौर पर घर या कार्यालयों में होता है इसलिए इन्हें Personal Computer (PC) भी कहा जाता है.


माइक्रो कंप्यूटर Word Processing, Desktop Publishing और Accounting जैसे कार्य करता है. वर्तमान में Micro Computer का विकास बहुत तेजी से हो रहा है जिसके परिणाम स्वरूप Micro Computer एक Book, Phone और यहां तक कि एक घड़ी के आकार में भी आने लगे हैं.

Mini Computer Kya Hai

ये Micro Computer से अधिक विकसित Computer होते हैं क्योंकि इनका Processor, Micro Computer से 5 गुना अधिक तेज होता है इसका आकार Micro Computer से बड़ा होता है और इनकी कीमत Micro Computer से अधिक होती है सबसे पहला Mini Computer PDP-8 एक  रेफ्रीजिरेटर के आकर का था जिसकी कीमत $18000 थी जिसे DEC (Digital Equipment Corporation) ने 1965 में तैयार किया था ऐसे Computer मध्यम श्रेणी के Computer होते हैं.
ये Computer Micro Computer की तुलना में अधिक कार्य क्षमता वाले होते हैं इन्हें Multi-User, Multiprocessing तथा मध्य श्रेणी Server के रूप में भी जाना जाता है. इन Computers को व्यक्तिगत रूप से नहीं खरीदा जा सकता है. इन Computers को प्रायः छोटे और मध्यम आकार की कंपनियां प्रयोग में लेती हैं तथा इन पर एक साथ एक से अधिक व्यक्ति कार्य कर सकते हैं.

Mini Computers में एक से अधिक CPU होते हैं. इन Computers की Speed, Micro Computer से अधिक लेकिन Mainframe Computer से कम होती है. इससे Computer के संसाधन साझा हो जाते हैं. Mini Computer का उपयोग यात्रियों के Ticket Reservation प्रणाली, बैंकों, कर्मचारियों के वेतन का पैरोल तैयार करने, वित्तीय खातों के रखरखाव आदि में होता है.

Mainframe Computer Kya Hai



यह Computer, Micro Computer और Mini Computer से आकार में बड़े होते हैं. आकार में बड़े होने के कारण इनमें Storage Capacity अधिक होती हैं जिससे यह अधिक Data Save कर सकते हैं. यह लगभग पूरे कमरे से भी अधिक Size में होते हैं.

इनमें और LAN (Local Area Network) और WAN (Wide Area Network) System में सेंटर के रूप में प्रयुक्त किया जाता है इसलिए इनमें 1 से अधिक Programs एक साथ काम कर सकते हैं. इनका प्रयोग ज्यादातर प्रयोगशाला में वैज्ञानिकों द्वारा जटिल गणना करने के लिए किया जाता है. IBM System Z10 इसका एक उदाहरण है.

Super Computer Kya Hai

यह Computer सबसे शक्तिशाली Computer माना जाता है. इनकी तार्किक निर्णय (Logical Decision) लेने की क्षमता बहुत अधिक होने से यह बहुत ही महंगे होते हैं. ये Computer अन्य सभी श्रेणियों के Computers की तुलना में सबसे बड़े, सबसे अधिक Storage Capacity वाले और सबसे अधिक Speed वाले होते हैं. इन Computers में अनेक CPU समानांतर कर्म में कार्य करते हैं. इस क्रिया को समानांतर प्रसंस्करण (Parallel Processing) कहते हैं.
Super Computer Non-Von Neumann Concept के आधार पर तैयार किया जाता है. Super Computer में अनेक ALU (Arithmetic Logical Unit), CPU का एक भाग होता है. इनमें प्रत्येक ALU एक निश्चित कार्य के लिए होता है. सभी ALU एक समान क्रिया करते हैं.

Super Computers का प्रयोग बड़ी वैज्ञानिक और शोध प्रयोगशाला में शोध कार्य में होता है, जैसे- अंतरिक्ष यात्रा के यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजना, मौसम की भविष्यवाणी करना, उच्च गुणवत्ता युक्त Animation वाले चित्रों का निर्माण करना. इन सभी कार्यों में की जाने वाली गणना व प्रक्रिया जटिल व उच्चकोटि की शुद्धता वाली होती है. जिन्हें केवल Super Computer ही कर सकता है.



भारत के पास 'परम (PARAM)' नाम का सुपर Computer है जिसे भारत के वैज्ञानिकों ने भारत में ही तैयार किया है. PARAM Computer का विकसित रूप PARAM-10000 है. इसके अलावा अन्य Super Computer भी है जैसे- CRAY-Y2, CRAYX-24 और NEC-500.

Analog Computer Kya Hai

इस श्रेणी में वे Computer आते हैं जिनका प्रयोग भौतिक इकाइयों (दाब, गति, तापमान, लंबाई, वोल्टेज आदि) को मापकर अंकों में परिवर्तित करने में होता है. ये Computer किसी भी राशि का मापन तुलना के आधार पर करते हैं. Analog Computer का प्रयोग मुख्य रूप से Science Research और Engineering के क्षेत्रों में किया जाता है क्योंकि इन क्षेत्रों में मात्राओं का अधिक प्रयोग किया जाता है. 

इस प्रकार के Computer केवल अनुमानित Result ही देते हैं जैसे पेट्रोल पंप पर लगा Analog Computer पंप से निकलने वाले पेट्रोल की मात्रा को मापकर उसे Litre में दिखाता है और उसके मूल्य की गणना करता है. 

Hybrid Computer Kya Hai

इन Computer में Analog Computer और Digital Computer दोनों के ही गुण विद्यमान होते हैं. यह Computer अधिक भरोसेमंद होते हैं, जैसे- जब Computer की Analog Device किसी रोगी के लक्षणों जैसे Temperature या Blood Pressure आदि को मापती है तो यह माप बाद में Digital भागों के द्वारा अंकों में बदल जाती है. इस प्रकार से किसी रोगी के स्वास्थ्य में आए उतार-चढ़ाव का तुरंत ही सही पता चल जाता है

No comments:

Post a Comment