Sadupayog

Computer | Mobile | Internet | Technology | Online Earning

Oct 30, 2019

आपके बच्चे को इंटरनेट की लत है या नहीं, ऐसे करें पहचान

Mobile-Internet-Video-Game-Addiction-in-Children

Internet का Use करना और Internet की लत लग जाना दोनों अगल-अलग बातें है. आज हम देखते है कि छोटे-छोटे बच्चे अभी से Internet के आदि हो रहे है और रात-दिन Mobile या Internet से चिपके रहते है. इस बात को ध्यान में रखते हुए बाल अधिकार संरक्षण  आयोग ने इस विषय पर गहरी चिंता जाहिर करते हुए इस चीज़ के लिए एक Program Organize किया। यहाँ पर इस Program में बड़े-बड़े विशेषज्ञों के द्वारा जो बातें बताई गई वह वाकई में सभी माता-पिता को जाननी चाहिए।
इस Post को पढ़ने के बाद आपको आपके काफी सारे प्रश्नो के उत्तर खुद-ब-खुद मिल जाएंगे। साथ ही यह भी जान पाएंगे कि बच्चों या बड़ों को यदि Internet या Mobile की लत लग जाती है तो भविष्य में उन्हें क्या-क्या दिक्क्तें हो सकती है. तो यहां पर इस Article में उन्ही बातों को Discuss करने जा रहे है जो बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा उस कार्यशाला में शिक्षकों को बताई गई।



जिन बच्चों में Internet या Mobile की लत लगी होती है उन बच्चों में कुछ अलग ही लक्षण पाए जाते है. आइये जानते है कौन से है अलग लक्षण -
  • आँखों में सूजन 
  • नींद न आना 
  • बैचेनी 
  • Depression
  • थोड़ी-थोड़ी देर में Mood Change होना 
  • सिर दर्द 
  • कंधे या पीठ दर्द होना 
  • हर काम से जल्दी बोर हो जाना 
  • हर काम में तालम-टोल करना आदि
आजकल बच्चों में Mobile, internet और Video Games की लत तेज़ी से बढ़ रही है जिसके बहुत ही भयावह परिणाम हो सकते है. Actually Internet का Use करते हुए और Video Games खेलते हुए बच्चों के Mind में Dopamine का level बढ़ जाता है. इससे उनके अंदर Satisfaction की भावना का एहसास होता है. और यही कारण है कि उनके मन में लत का स्तर लगातार बढ़ते रहता है.

DCPR (Delhi Commission for Protection of Child Rights) बाल अधिकार संरक्षण आयोग की एक सदस्य रंजना प्रसाद ने बताया कि बच्चों में Mobile, Internet, Video Gaming की यह लत बहुत ही चिंतनीय है। क्यूंकि यह लत बच्चों के मानसिक स्वस्थ्य के साथ-साथ शारीरिक स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव डाल रही है.
उन्होंने बताया कि भविय में भी हम इस प्रकार की कार्यशाला आयोजित करते रहेंगे ताकि अभिभावक एवं शिक्षक अपने बच्चों को यह लत लगने से दूर रख सकें।

यहाँ पर हमारे द्वारा आपके लिए Mobile Addiction (लत) को दूर करने के लिए कुछ Tips दी जा रही है जो छोटे बच्चो से लेकर बड़ों को भी Follow करने चाहिए। इन Tips को Daily Routine में लाने से आपको इसके काफी सरे फायदे भी नज़र आएंगे।
जेब बदलें:
कई बार क्या होता है हम बिना काम से किसी न किसी जेब में थोड़-थोड़ी देर में हाथ डालते है  और ऐसे में हमारे जेब में जो कुछ भी होता है उसे बार-बार हाथ में ले लेते है. ऐसे में हमें क्या करना चाहिए कि अपने Mobile को ऐसी Pocket में रखें जहां हम बार-बार हाथ नहीं डालते हो. ऐसे में धीरे-धीरे हमारी आदत हो जाएगी और हम अपने Mobile को बार-बार हाथ में लेने से बचेंगे।

Data और Notification Off रखें:
अक्सर अपना Mobile Use करते-करते हम अपना Mobile Data On ही छोड़ देते है. ऐसे में हर थोड़ी-थोड़ी में Mobile में Notifications  की आवाज़ आती है और हम तुरंत अपना Mobile फिर से हाथ में ले -लेते है. ऐसे में हमें दो तरफ से नुकसान हो रहे है.

एक तो, हमारा ध्यान बार-बार भटक रहा है और Mobile की और ध्यान जा रहा है ऐसे में हम अपने Mobile को फिर से अपने हाथ में ले-लेते है.
दूसरा, Mobile Data हमेशा On रहने से Mobile Battery जल्दी Discharge हो जाती है. और ऐसी प्रकार से Mobile Battery की Life भी कम होती जाती है.

दूसरा कोई भी काम करते हुए Mobile का Use न करें:
हमेशा ध्यान रखें कि जब भी हम कोई दूसरा काम कर रहे होते है जैसे- खाना खाना, टीवी देखना, पढ़ाई करना, Office Work करना या फिर वो कोई भी काम हो सकता है, ऐसे में कभी भी हमें अपने Mobile का Use नहीं करना चाहिए। क्यूंकि ऐसे में हमें हर काम के साथ Mobile Use करने की आदत हो जाती है. और फिर हम कोई भी काम ठीक से नहीं कर पाएंगे और जब काम ही ठीक से नहीं होगा तो उस काम के परिणाम भी ठीक नहीं आएँगे।
बिस्तर में Mobile का Use कभी न करें:
हममे से 95% लोग अपने फ़ोन को बिस्तर पर लेजाते है और इसका Use अधिकतर Night में किया जाता है. और सवेरे भी बिना Mobile Check किये हमारी सुबह नहीं होती है. Night में हमारे Room में तो अँधेरा होता है लेकिन Mobile की खतरनाक रौशनी / किरणे हमारी आँखों में सीधे जाती है. शुरुआत में तो हमें ऐसी कोई दिक्कत पता नहीं चलती है लेकिन बाद में एकदम से हमारी आँखें कमजोर हो जाती है और आँखो में दर्द रहने लगता है , आँखों से पानी आने लगता है, जलन रही है और साथ ही सिर दर्द भी रहने लगता है. इसके अलावा गार्डन में दर्द पीठ दर्द ये सभी बीमारिया जल्दी ही हमारे शरीर को जकड़ लेती है.
यहां पर इस Post में हम आपको यह नहीं कह रहे है की हमें Smart Phone का Use ही नहीं करना चाहिए बल्कि हम यह कह रहे है कि Smart Phone को Use करने में यदि थोड़ी सावधानी बरती जाए तो हम इसकी लत से बच सकते है साथ ही शरीर और दिमाग की कई सारी बीमारियों से भी हम बच सकते है.

साथियों यदि आपको पोस्ट पसंद आई हो तो Comment और अपने Friends & Relatives के साथ इस Post को  Share जरूर कीजिएगा। Thank You.