- - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - -

Breaking

Search This Blog

मदरसा टीचर सिखाया राष्ट्रगान और हो गई पिटाई


राष्ट्रगान सिखाने पर इस मदरसा टीचर की हुई जमकर पिटाई


Madarsa Teacher Masoon Ankhtar
Bhaskar
खबर कोलकाता की है | पश्चिम बंगाल के एक मदरसा टीचर की गलती बस इतनी थी की वे गनतंत्र दिवस की तैयारी के लिए बच्चो को मदरसे में राष्ट्रगान जन गन मन सिखा रहे थे औरमदरसे में झंडा फेहरा रहे थे | 

कुछ मौलवियों और उनके सहयोगियों ने इसे इस्लाम विरोधी बताकर उनपर हमला कर दिया | इसके बाद अख्तर के ऊपर मदरसे में राष्ट्रगान गाना और तिरंगा फेहराने के विरोध में फतवा भी जारी किया गया है |



 जन गन मन के खिलाफ क्यों है मौलवी




कहा जा रहा है कि मौलवियों ने राष्ट्रगान (जन गन मन) को हिन्दूवादी और अपवित्र गीत बताया है | उन लोगो का यह भी कहना है की इससे उनकी धार्मिक भावना आहत होती है |

मासूम अख्तर , तालपुकुर आला मदरसे के हेडमास्टर है | मासूम अख्तर के अनुसार उन्हें पूरी तरह से इस्लामिक ड्रेस में मदरसे पर आने को कहा गया है | इसके अलावा उनके जींस पहनने पर भी पाबन्दी है और वे क्लीन शेव भी नहीं करवा सकते क्योकि इसकी भी उनको मनाही है |



उन्हें ढाढ़ी बढाने और हर हफ्ते फोटो खीचकर भेजने को भी कहा गया है | फ़िलहाल वे  Western ड्रेस में मदरसा जाते है | किन्तु मारपीट के बाद अब तक वे मदरसा नहीं गये है और उन्होंने वहां के सीएम ममता बनर्जी से सुरक्षा की गुहार भी लगे है |

इसके विपरीत जमियत के  Voice Precedent मुफ़्ती सैय्यद मिर्जाउद्दीनअबरार ने मारपीट को गलत बताया है |

अख्तर से पहले भी हुई है मारपीट

26  मार्च  2015 को भी मासूम अख्तर के साथ मारपीट हो चुकी है , उस समय मामला एक धार्मिक प्रतिक से जुड़ा था |

इस मामले में कोलकाता पुलिस ने माइनॉरिटी कमीशन के चेयरमैन को लैटर लिखा है | पुलिस ने यह मामला जल्द की सुलझाने का आश्वासन दिया है |

No comments:

Post a Comment