Sadupayog

Computer | Mobile | Internet | Technology | Online Earning

Oct 15, 2015

How to Learn English Step by Step. Best Way to Learn English. अंग्रेजी सिखने का रामबाण तरीका।

Learn-spoken-english-Sadupayog-Best-Hindi-Blog-For-internet-mobile-computer-technology-Facebook-Whats-App-online-earning-Tips-and-tricks
Google
हेल्लो दोस्तों | आज मैं आपको बताऊंगा की आप अंग्रेजी बोलना कैसे शुरू कर सकते है |
ये मेरा खुद का  Opinion  है मैंने कही से चुराया नहीं है , यदि आपको ठीक लगे तो कमेंट जरुर करियेगा |अंग्रेजी एक ऐसी भाषा है जिसका ज्ञान हमें ना होने की  वजह से हुमको कई बार शर्मिंदा होना पड़ता है | कई जगह हम अपने आपको सहज महसूस नहीं करते है और तो और Confidence level भी कम हो जाता है | 10  लोगो के सामने बात करने में हिचकिचाते हैं आदि कई सारी प्रोब्लेम्स होती है |

दूसरी और एक बात और ये भी है कि यदि हमे अंग्रेजी भाषा का अच्छा ज्ञान होता है तो अपने आप हमारा कॉन्फिडेंस लेवल भी  High हो जाता है |

कैसे शुरुआत करें -
सबसे पहले तो टेंस और ग्रामर को ठीक करें | और इनपर इतनी पकड़ बना लें कि आप किसी को भी ग्रामर या टेंस में चेलेंज तक कर सके | इसके बाद , रोजाना की बोलचाल की भाषा में उपयोग में ले जाने वाली चीजों को अंग्रेजी में बोलने की आदत डालें जैसे कि - खिड़की को खिड़की ना कहकर -Window  बोले | दरवाज़े को Door/Gate कहें | पंखे को Fan आप कह सकते है | कुछ और उदाहर जैसे -

Colour(रंग), Bike(मोटरसायकल), Ring(अंगूठी), Chair (कुर्सी), Player(खिलाड़ी), Ball(गेंद) आदि कई साड़ी चीज़े है |

ऐसा करने से आपकी वोकैब अच्छी हो जाएगी ये मेरी Guarantee है | जब आप अपनी ग्रामर और टेंस और वोकैब अच्छी कर लेंगे तो देखते है भला आपको English में Perfect होने से कौन रोकता है | इतना यदि आपने कर लिया तो समझ लो आपने 80% English तो सिख ली |

बस अब बात आती है इसे बोलेन कैसे ?

ये तो Very Simple  है यार | मुझे पता है अच्छी English आने के बाद भी हम लोग English  बोलने में हिचकिचाते है |

सबसे पहला डर तो मन में ये आता है कि मैं जिससे English में बात करूँगा वो मेरी गलतियां जरुर निकालेगा और मुझ पर हसेगा जरुर |

हम इंतना ही सोचते है और और फिर अंग्रेजी बोलने की हमारी ललक या लक्ष को छोड़ देते है | ऐसा क्यों ??? क्या वो लोग हमे खाने के लिए दे रहे है ?जो हम उनकी वजह से हमारे लक्ष्य को ही छोड़ दें | लक्ष्य ऐसा होना चाहिए , जो कितने ही लोग आ जाएं हंसले , जितने चाहें आकर मेरी बुराई करें उनके लिए लक्ष्य को छोडो मत बल्कि उसे पाकर रहो |

हमे तो और ये सोचना चाहिए कि यदि सामने वाला हमारी किसी मिस्टेक पर हँसता है तो वह हमारी गलती ढूंड कर हमे दे रहा है , भला इससे अच्छा हमे और क्या चाहिए | उस गलति को सुधारों और आगे बढ़ो | इसी प्रकार एक दिन आप देखेंगे कि आप पर हसने वाले लोगो की वजह से आप अंग्रेजी बोलने में परिपूर्ण हो गये |

तो ये बात हमेशा याद रखें अंग्रेजी बोलने पर यदि शुरुआत में आप पर कोई हँसता है तो हंसने दो पर आप अंग्रेजी बोलना कभी मत छोड़ना |

अंग्रेजी बोलने के लिए माहौल  चाहिए ????
कई सारे लोगो को लगता है की अंग्रेजी बोलने के लिए ऐसा माहोल चाहिए किन्तु उन्हले वैसा माहौल नहीं मिल पता इस कारण वे अपना , अंग्रेजी बोलने वाला लक्ष्य भाता जाते है  और फिर से निराश हो जाते है |

मेरी बात मानो तो ऐसा कुछ भी नहीं है दोस्तों , माहौल तो हमे Create करना पड़ता है | पर कैसे ? 

मैं एक छोटा सा Example आपको देता हूँ | यदि आप अंग्रेजी में किसी से बात करना चाहते है और कोई भी आपकी बात अंग्रेजी में सुनना नहीं चाहता है तो आप एक काम करिये , घुमाइए फोन और कॉल करें किसी भी मोबाइल कंपनी के टोल फ्री कॉल सेण्टर पर और शुरू कर दीजिये अंग्रेजी में बाते करना | जितनी चाहे उतनी भड़ास आप उनपर अंग्रेजी में निकाल दीजिये | वे लोग इतनी आसानी से किसी का फोन भी नहीं काट सकते | और यदि काट भी दे तो फिर से लगा लो और शुरू कर दो अंग्रेजी में बाते करना | वो लोग आपकी बात समझने की कोशिश जरुर करेंगे | आप जब चाहे तब कॉल करके कॉल सेण्टर वालो से फ्री में  अंग्रेजी में  बाते कर सकते है और वो भी जब आपका दिल चाहे तब चाहे रत की  12  क्यों ना बजे हो |

दोस्तों कैसा लगा मेरा आईडिया ? प्लीज कमेंट करुर करियेगा |