जब ब्रिटेन में प्रधानमन्त्री मोदी ने कहा - "मेरा भारत अलवर के इमरान में बसा है |"

13 Nov 2015 का वह दिन था | जब भारत के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेन्द्र मोदी ने राजस्थान के अलवर जिले के एक सरकारी स्कूल में पदस्थ Maths  के  Teacher इमरान खान के लिए यह बात  कही -
" My India is in Alwar's Imran (मेरा भारत अलवर के इमरान में बसा है )"

जब प्रधानमंत्री अपने भाषण में इमरान का ज़िक्र कर रहे थे तब इमरान को इस बात की ज़रा सी भी भनक नहीं थी कि उसका नाम ब्रिटेन में लिया जा रहा है | उसने कभी सपने में भी ऐसा नहीं सोचा था | भाषण के कुछ देर बाद रात में जब इमरान के एक दोस्त ने उसे फोन पर सारी बात बताई तब मानो इमरान के सारे सपने एक ही रात में पूरे हो गये हो |

 13 नवम्बर  2015 (शुक्रवार), रात के करीब सवा १२ बजे थे | इमरान गहरी नींद में सोया हुआ था और लन्दन में भारत के प्रधानमंत्री अलवर के इमरान का ज़िक्र कर रहे थे जैसा की मैंने आपको उपर बताया है |

रात में ही इमरान के दोस्त राजेश ने इमरान को  Call  किया और बताया की लन्दन गए प्रधानमंत्री जी ने उनके भाषण में तेरा ज़िक्र किया है |

 इमरान ने बताया - दोस्त की बातें सुनकर ऐसा लगा जैसे गहरी नींद में ही मेरे सारे सपने पुरे हो गये |

 3  साल में 52  Android Apps और  100  से ज्यादा  websites  बनाने वाले इमरान के घर एक  TV  तक नहीं है | इसके लिए इमरान ने कभी किसी से कोई  Training नहीं ली |

दोस्त की बाते सुनकर अगले दिन इमरान ने Youtube पर प्रधानमत्री  का  speech  सुना | इससे पहले की इमरान कुछ समझ पाता, घर पर और फोन पर  बधाई देने वालो का ताता लग गया | पुरे गाव में जैसे कोई त्यौहार का माहोल बन गया | सभी एक दुसरे को मिठाई खिला रहे थे और इमरान को बधाई दे रहे थे |

 BSNL   Company के अधिकारी भी इमरान को बधाई देने इमरान के  घर आये और  Imran  को आजीवन इन्टरनेट की सुविधा फ्री देने की बात कही |

इमरान बताते है की शुरू से ही Science-Maths  के प्रति उनकी बहुत अधिक रूचि थी | परिवार की आर्थिक स्तिथि ठीक नहीं होने के कारण जैसे तैसे उन्होंने  12 वी की कक्षा उत्तीर्ण की | बतौर इमरान उनका सपना   IIT  करके वैज्ञानिक बनना था | लेकिन घर वालो ने इमरान की शादी करा दी |

इमरान के दो भाई  इशाक और इदरिस Software Engineer है | इमरान ने  भाइयों की किताबे पढ़कर और Google की मदद से Google Apps बनाने का सफल कार्य शुरू किया | 

अभी तक इमरान ने Daily GK,  गणित का रजा,  Kids GK  जैसी 52  तरह की  Apps  बनाई है |

इनकी Apps  को अब तक करीबन 52  लाख लोग  Download कर चुके है | और इनके 7  Apps ऐसे भी है जिन्हें  1 करोड़ लोग रोजाना देखते है |

इमरान की एक App ,  GK Talk  को देखकर वहा के तात्कालीन कलेक्टर ने इमरान को अपने पास बुलाया और उन्हें डाईट के लिए Website  बनाने का Offer भी दे दिया | लेकिन इमरान ने कहा कि उनके पास  Android phone नही है | यह बात सुनते ही कलेक्टर ने अपना Tablet PC  इमरान को दे दिया |  तब से लेकर इमरान  Apps बना ही रहे है |

   Imran बताते है की  Apps को लेकर उनके पास रोजाना कम से कम १०० से ज्यादा  Emails और ५० से ज्यादा फोन उनके पास आ जाते है |

इमरान बताते है की Apps  को लेकर उनकी बेटी सामिया भी उनकी मदद करती है , फिलहाल वो  Designing  का काम देखती है |

SHARE THIS
Previous Post
Next Post